चाहत एक नए आशियाँ की

Image
ए  दिल बता , की तुझे  क्या है हुआ ,
किस बात पर ,  तू मुझसे  है खफा |
ये गमगिनियाँ और ये मजबूरियाँ ,
आ मिलकर मिटा दें अब ये सारी दूरियां  |
मैं ,  मैं न रहूँ  ओर   तू , तू न रहे,
संग मिलकर बनायें , फिर एक नई दास्ताँ |
ए दिल बता  ..........
अरमां यही है दिल में   , हमसब एक हो जाएँ |   ,
न रहे कोई गिला  , सारा जहां अपना कहलाये |
पर ये जो  चमन है  , सिर्फ मेरा ही नहीं है ,
खिलते है फूल मगर , खुशबु ही नहीं  है |
बन जाये ये  महकता चमन गुलिस्तां का
गीत कोई गुनगुनाये , सुर एक सा सज जाये |
ए  दिल बता है ..........
जब होने लगेगी पूरी , मेरे दिल की ये आरजू
सपनों में पंख लगते ही , दिल खुशी से झूम जाये |
देता  है दिल सदाएं , मांग - मांग कर दुआएं
खुदा की रहमत का असर , कभी कम न हो पाए |
हरपल सजाकर के रखना , परवरदिगार की चोखट
फरियादी आये तो , खाली हाथ न जाये |
ए  दिल बता .............

7 टिप्‍पणियां:

वन्दना ने कहा…

बहुत सुन्दर भाव संयोजन्।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

काश आपका सपना सच हो जाये..

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

खूबसूरत ख्वाहिश

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बेहतरीन।

सादर

***Punam*** ने कहा…

ameen.............

sushma 'आहुति' ने कहा…

जरुर सच होगा सपना.... आमीन......

babanpandey ने कहा…

sunder and prerak post /
mere bhi blog par aaye./