शतको का शहंशाह

लिखना तो आज हम कुछ और चाह रहे थे पर हर तरफ सचिन सचिन के शोरे ने जैसे कुछ और लिखने ही नहीं दिया तो हमने भी अपना रुख सचिन की तरफ ही मोड़ लिया सोचा क्यों ना हम भी अपने देश के महानतम बल्लेबाज़ सचिन के लिए दो शब्द कह ही दे ! जिस तरह से वो अपने आप को इतिहास के पन्नो मै दर्ज करवाते जा रहे हैं  सच मै काबिले तारीफ है ! हम तो ये कहेंगे की अगर किसी  भी तरह का ठंग व् तकनिकी का संगम कही देखना हो तो वो सचिन की बल्लेबाज़ी मै मिलती है !
                                                                आज से 21 साल पहले सचिन ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 88 रन बनाये थे जब वो लोट कर पवेलियन आ रहे थे तो उनकी आँखों मै आंसू थे !अपने करियर का पहले  शतक से चुक जाने का दर्द उनकी आँखों से साफ़ झलक रहा था ! उसी सचिन ने उस दर्द को अपने ज़ेहन मै एसे संजोया  की उसे ही अपनी हिम्मत बनाकर आगे का सफ़र जारी रखते हुए  टेस्ट क्रिकेट मै अपनी 50 वी सेंचुरी  दर्ज कर दी ! क्रिकेट के प्रति उनके बेइंतिहा  प्यार , सम्मान  और प्रशंसको के विश्वाश को बनाये रखने के ज़ज्बे ने उनके लक्ष्य तक पहुँचने के सफ़र को आसां बना दिया ! सचिन के चाहने वालो ने उन्हें क्रिकेट की दुनिया का भगवान  तक नाम दे दिया ! जनता का उनके प्रति प्यार , सम्मान , भरोसा और उनका साधारण व्यक्तित्व जनता को प्रभावित  भी करता है ! क्युकी मनुष्य की पहचान उसकी एक खूबी को लेकर नहीं बल्कि उसके सभी पहलुओ को लेकर की जाती है !
                                                    सचिन के धुवांधार बलेबाज़ी ने लोगो के दिलो मै क्रिकेट के प्रति लगाव को और अधिक बढावा दिया है ! समय - समय पर उनके प्रदर्शन को देखते हुए उनके साथी खिलाडियों ने उन्हें खुबसूरत टिप्णियो से भी नवाज़ा है ! एक बार डान ब्रेडमेन ने कहा था ................सचिन को दूरदर्शन मै खेलते देखकर मुझे लगता है जेसे मै ही खेल रहा हु !इसी तरह सर गिरफिल्ड सोबर्स ...............ने उन्हें दुनिया के महानतम खिलाडियों से नवाज़ा था ! उन्होंने कहा था ...............मैने बहुत से तेंदुलकर देखे , लेकिन उनमे से ये बेस्ट है ! सचिन को क्रिकेट का भगवान पहली बार........... बेरी रिचर्ड्स ने कहा था !
                             वन डे मै 46 सेंचुरी और सबसे ज्यादा रन ! टेस्ट मै 50 सेंचुरी  और सबसे अधिक रन सच मै किसी का किसी के प्रति जूनून और हिम्मत ही ये सब कमाल करवा सकती है ! जब विव रिचर्ड्स............. जेसा महान खिलाडी ये कह सकता है की मै सचिन को टिकट लेकर भी खेलते देखना चाहूँगा तो इससे बड़ी बात क्या हो सकती है ! उन्होंने सचिन को 99.5% परफेक्ट बताया था ! ये सभी बाते सचिन को सबसे हटकर एक अलग पहचान दिलाती है !
सचिन के शतको  का सफ़र ........................................
   
पहला शतक ........119 रन .........इंग्लैंड ...........14 अगस्त 1990 .........मेनचेस्टर
10 वां शतक ........117 रन .......इंग्लैंड ..............5 जुलाई 1996 ................नाटिघम
20 वां शतक ........126 रन .......न्यूज़ीलैंड .........13 ओक्टुबर 1999 ...........मोहाली
30 वां शतक ........193 रन ........इंग्लेंड ...........23 अगस्त 2002..............लीडस
40 वां शतक ........109 रन .......ओस्ट्रेलिया ......6 नवम्बर 2008 ............नागपुर
50 वां शतक ........107 रन .......दक्षिण अफ्रीका .........19 दिसम्बर 2010........ .सेंचुरियन
                                                  तो ये था हमारे महान बल्लेबाज़ मास्टर ब्लास्टर सचिन  तेंदुलकर की जिंदगी का एक शानदार सफ़र जो आज भी जारी है ! उनका ये जूनून आज की उभरती  नोजवान पीड़ी  को अपना सफ़र जारी रखने मै हिम्मत और ताक़त की याद दिलवाती रहेगी और उन्हें भी सचिन की तरह उँचइयो को छु सकने का रस्ता बताती रहेगी ! वो उनके  इस एहसास को बनाये रखएगी की ....................
                                 कदम चूम लेती है खुद आके मंजिल !
                                 अगर राही खुद अपनी हिम्मत न हारे !!      
           

5 टिप्‍पणियां:

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

मीनाक्षी जी
नमस्कार !
बहुत ख़ूबसूरत !
आपका ब्लॉग और …
शतको का शहंशाह आलेख !

बहुत सही कहा आपने -
कदम चूम लेती है खुद आके मंजिल !
अगर राही खुद अपनी हिम्मत न हारे !!


आपके ब्लॉग की पिछली कई पोस्ट्स भी पढ़ी
विविध सामग्री के लिए आपको बधाई और आभार !

नव वर्ष वैसे अभी दूर है , वर्ष 2011 के लिए हार्दिक मंगलकामनाएं स्वीकार करें !

शुभकामनाओं सहित
- राजेन्द्र स्वर्णकार

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

शतको का शहंशाह आलेख !

बहुत सही कहा आपने
-

bhawna ने कहा…

mahodaya bahut hi khubsurat likha hai aapne.... aapko bahut khubsurti se shabdo se khelna aata hai....

Minakshi Pant ने कहा…

आप सबका बहुत शुक्रिया दोस्तों !

mukes agrawal ने कहा…

तेंडुलकर क्रिकेट इतिहास का पहला महाशतक लगाने से महज तीन कदम दूर हैं।सचिन के इस महारिकार्ड का इंतजार सिर्फ उनके प्रशंसकों को ही नहीं, बल्कि विरोधी खिलाड़ियों को भी है|