शुभ दीपावली


रुको मत की चलने का वक्त आ गया है |
उठो फिर की संभलने का वक्त आ गया है |
सबक लो दशहरे के दिन से तुम |
की बनके दिखाओ श्री राम से तुम |
बजाया था किसने सच्चाई का डंका |
जलाई बताओ किसने रावण की लंका |
आज भी दुनिया में उसका बोलबाला |
नज़र आता है दाल में आज भी काला - काला |
भरत , लक्ष्मण से नहीं मिलते भाई |
जहां देखो वही है आपस में हाथा - पाई |
अभी भी है कैद सितायें कितनी |
अभी भी आह भरती हैं बेवायें कितनी |
जलाओ तो लंका जुनूं की जलाओ |
अँधेरे दिलों को जरा जगमगाओ |
मिटाओ दिलों से नफरत और भेदभाव |
मोहोब्बत की रस्में सभी को सिखाओ |
चलो मिलकर फिर से प्यार का दीपक जलाओ |

13 टिप्‍पणियां:

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति
आपको दीपावली की ढेरों शुभकामनाएं

संगीता पुरी ने कहा…

चलो सब मिलकर प्‍यार का दीपक जलाएं ..
.. आपको दीपोत्‍सव की शुभकामनाएं !!

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

सादर

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएं

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सबके मन का अन्धतम मिटे, सबका जीवन सफल हो।

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति
आपको दीपावली की ढेरों शुभकामनाएं

रश्मि प्रभा... ने कहा…

दीपावली की शुभकामनाएं

Rakesh Kumar ने कहा…

बहुत ही अनुपम लेखन है आपका.
पढकर भाव विभोर हो जाता हूँ.

दीपावली के पावन पर्व की हार्दिक मंगलकामना.

मेरे ब्लॉग पर आपका बेकरारी से इंतजार है,मीनाक्षी जी,'नाम जप'पर अपने अमूल्य विचार व
अनुभव भी बताईयेगा.

मदन शर्मा ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति
आपको तथा आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ!

सुरेन्द्र "मुल्हिद" ने कहा…

sundar prastuti...
happy diwali...!!

दिगम्बर नासवा ने कहा…

प्रेम के दीप जलें ... राम राज्य हो सब जगह तो सच्ची दिवाली हो ...
सुन्दर रचना ... दीपावली की मंगल कामनाएं ...

Jyoti Mishra ने कहा…

Happy diwali :)
awesome lines !!

***Punam*** ने कहा…

दीवाली की व्यस्तता मैं कई दिनों के बाद समय मिला....
शुभकामनाएं....आपको परिवार समेत....!!