प्यारी माँ


तू   ही तू ............तू   ही तू  .......तू   ही तू   
जहाँ भी देखूं बस तू   ही तू   
मुझ मे तू   ...........तुझ मे मैं
सारे जहाँ मे बस तू   ही तू   
नटखट भी तू   चंचल भी तू   
ममता भी तू   क्षमता भी तूँ 
प्यारी भी तूँ न्यारी भी तू
सारी सृष्टि मे बस तू  ही तू
तू  ही तू..............तू  ही तू.. .....तू  ही तू
ममता भी तू समता भी तू  
उसकी भी तू मेरी भी तू  
सबकी जन्मदाता भी तू
लक्ष्मी भी तू  काली भी तू 
सारे कण - कण मे समाई तू
मेरा आज तू मेरा कल भी तू
मेरी प्यारी - प्यारी माँ जो है तू ! 

11 टिप्‍पणियां:

Rahul Singh ने कहा…

मां की ममता की परख ममतामय दृष्टि से ही होती है.

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

Maa ki mamta no shat shat naman

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

Maa ki mamta ko shat shat naman

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

माँ की ममता से बढ़कर कुछ भी नहीं !

वात्सल्य में सराबोर रचना ........ सुन्दर ...बहुत प्यारी |

Kunwar Kusumesh ने कहा…

very very good.

ManPreet Kaur ने कहा…

very nice post..
Pls Visit My Blog..

Lyrics Mantra
Download Free Latest Bollywood Music
Real Ghost and Paranormal

Minakshi Pant ने कहा…

आप सबका बहुत बहुत शुक्रिया !

K.R. Baraskar ने कहा…

badhaayee ho...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

माँ की प्यारी दुनिया और उसमें हमारा सुखद स्थान।

: केवल राम : ने कहा…

माँ की ममतामयी दुनिया ....बहुत खूब

santosh jha ने कहा…

वाह ...
बहुत सुन्दर कविता
मन को भावुक कर दिया

आभार / शुभ कामनाएं